Home / News and Updates / इप्टा स्थापना की प्लैटिनम जुबली

इप्टा स्थापना की प्लैटिनम जुबली

25 मई 2017 को इप्टा का 75 वाँ साल लग रहा है। सांस्कृतिक हल्कों में यह एक बहुत बड़ी घटना है और इसमें कोई दो राय नहीं है कि इप्टा के जिक्र के बगैर देश का सांस्कृतिक इतिहास लिखा ही नहीं जा सकता। यों इप्टा की विविध इकाइयों के आयोजन साल-भर चलते ही रहते हैं पर यह 75 वाँ साल कलाकारों में नयी ऊर्जा का संचार करने वाला है।

इस 25 मई से ‘पलैटिनम जुबली’ के मद्देनजर देशभर में वर्षभर विविध सांस्कृतिक आयोजन-संगोष्ठी-समारोह होंगे, नुक्कड-मंचीय नाटक खेले जायेंगे, कार्यशालाएँ होंगी और गौरतलब बात यह है कि जिन परिस्थियों में 1943 में इप्टा का गठन हुआ था वे अब न केवल और कठिन हो गयी हैं, बल्कि चुनौतियाँ भी कई गुना बढ़ गई हैं। ये हालात न केवल वृहद सांस्कृतिक हस्तक्षेप की मांग करते हैं, बल्कि यह भी याद दिलाते हैं कि सबके लिए एक बेहतर दुनिया के लिए होने वाली लड़ाई को उकसाने में संस्कृतिकर्मियों की बड़ी भूमिका होती है- ‘नक्कारे पर डंका लगा है, तू शस़्त्र को अपने संभाल!!

5 दिनों का प्लैटिनम जुबली समारोह अगले साल पटना में होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *